Monday, October 18, 2021
Home आपके शहर की ख़बरें बिहार चुनाव 2020 : छिटपुट हिंसक घटनाओं के बीच पहले चरण में...

बिहार चुनाव 2020 : छिटपुट हिंसक घटनाओं के बीच पहले चरण में 71 सीटों पर, औसत 53.54 प्रतिशत पड़े वोट

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Elections 2020) के प्रथम चरण (First Phase Voting) में 16 जिलों के 71 विधानसभा क्षेत्रों के लिए बुधवार, 28 अक्टूबर का मतदान छुटपुट हिंसक घटनाओं के साथ संपन्न हो गया। 71 विधानसभा सीटों पर कुल 53.54 प्रतिशत मतदान हुआ। पिछले विधानसभा चुनाव से करीब 1 प्रतिशत कम है। 2015 के विधानसभा चुनाव में 54.75 प्रतिशत मतदान हुआ था। पहले चरण में 2 करोड़ 11 लाख 6 हजार 96 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 1 करोड़ 12 लाख 76 हजार 396 और महिला वोटर की संख्या 1 करोड़ 1 लाख 29 हजार 101 और थर्ड जेंडर के 599 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। बिहार विधानसभा के लिए पहले चरण में 1066 प्रत्याशी मैदान हैं। जिनमें 952 उम्मीदवार पुरुष हैं तो वहीं 114 प्रत्याशी महिला हैं। इनमें नीतीश सरकार के मौजूदा 8 मंत्री भी हैं जिनका किस्मत आज ईवीएम में बंद हो गई।

बिहार विधानसभा के पहले चरण के तहत मतदान कड़ी निगरानी और चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ कोविड-19 को लेकर चुनाव आयोग के निर्देशों का पालन करते हुए संपन्न हुआ। निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए सभी मतदान केंद्रों पर अर्द्धसैनिक बलों के जवान तैनात किए जाने के साथ कुल 31 हजार 380 मतदान केन्द्रों के लिए 31 हजार 380, 31 हजाह 380 सेट ईवीएम और वीवीपैट मशीन का इंतजाम किया गया था।

बिहार विधानसभा के पहले चरण के तहत मतदान कड़ी निगरानी और चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ कोविड-19 को लेकर चुनाव आयोग के निर्देशों का पालन करते हुए संपन्न हुआ। निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए सभी मतदान केंद्रों पर अर्द्धसैनिक बलों के जवान तैनात किए जाने के साथ कुल 31 हजार 380 मतदान केन्द्रों के लिए 31 हजार 380, 31 हजाह 380 सेट ईवीएम और वीवीपैट मशीन का इंतजाम किया गया था।

71 सीटों पर हुई वोटिंग का आंकड़ा ये है
मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक शाम छह बजे तक 53.54 प्रतिशत मतदान होने की सूचना प्राप्त हुई है। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ था। इन विधानसभा क्षेत्रों में, भागलपुर जिला के कहलगांव में 54.10 प्रतिशत एवं सुल्तानगंज में 54.30 प्रतिशत, बांका जिला के अमरपुर में 57.00 प्रतिशत, धौरैया में 62.50 प्रतिशत, बांका में 60.97 प्रतिशत, कटोरिया में 60.84 प्रतिशत एवं बेलहर में 56.98 प्रतिशत मतदान हुआ।

सीईओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार मुंगेर जिला के तारापुर में 47.00 प्रतिशत, मुंगेर में 47.80 प्रतिशत एवं जमालपुर में 47.24 प्रतिशत, लखीसराय जिला के सूर्यगढ़ा में 55.80 प्रतिशत एवं लखीसराय में 55.10 प्रतिशत, शेखपुरा जिला के शेखपुरा में 56.22 प्रतिशत एवं बरबीघा में 55.66 प्रतिशत मतदान हुआ। वहीं, पटना जिला के मोकामा में 51.00 प्रतिशत, बाढ में 52.02 प्रतिशत, मसौढ़ी में 53.00 प्रतिशत, पालीगंज में 53.00 प्रतिशत एवं बिक्रम में 53.33 प्रतिशत, भोजपुर जिला के संदेश में 43.80 प्रतिशत, बरहारा में 50.00 प्रतिशत, अगियावं में 48.40 प्रतिशत, तरारी में 48.10 प्रतिशत, जगदीशपुर में 48.70 प्रतिशत एवं शाहपुर में 50.10 प्रतिशत मतदान हुआ। साथ ही, बक्सर जिला के ब्रह्मपुर में 54.30 प्रतिशत, बक्सर में 55.81 प्रतिशत, डुमरांव में 52.10 प्रतिशत एवं राजपुर में 54.20 प्रतिशत, कैमूर जिला के रामगढ़ में 60.00 प्रतिशत, मोहनिया में 51.50 प्रतिशत, भभुआ में 59.50 एवं चैनपुर में 54.00 प्रतिशत, रोहतास जिला के चेनारी में 50.70 प्रतिशत, सासाराम में 50.50 प्रतिशत, करगहर में 53.38 प्रतिशत, दिनारा में 49.10 प्रतिशत, नोखा में 46.10 प्रतिशत, डेहरी में 51.09 प्रतिशत एवं काराकाट में 46.00 प्रतिशत मतदान हुआ।

सीईओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार अरवल जिला के अरवल में 54.87 प्रतिशत एवं कुर्था में 52.80 प्रतिशत, जहानाबाद जिले के जहानाबाद में 51.40 प्रतिशत, घोसी में 56.05 प्रतिशत एवं मखदुमपुर में 54.75 प्रतिशत, औरंगाबाद जिला के गोह में 54.00 प्रतिशत, ओबरा में 52.00 प्रतिशत, नबीनगर में 57.14 प्रतिशत, कुटुम्बा में 52.00 प्रतिशत, औरंगाबाद में 48.40 प्रतिशत एवं रफीगंज में 54.00 प्रतिशत, गया जिला के गुरुआ में 58.90 प्रतिशत, शेरघाटी में 58.00 प्रतिशत, इमामगंज में 58.12 प्रतिशत, बाराचट्टी में 52.73 प्रतिशत, बोधगया में 59.41 प्रतिशत, गया टाउन में 54.00 प्रतिशत, टेकारी में 60.70 प्रतिशत, बेलागंज में 59.80 प्रतिशत, अतरी में 54.00 प्रतिशत एवं वज़ीरगंज में 55.00 प्रतिशत मतदान हुआ। वहीं, नवादा जिला के रजौली में 49.77 प्रतिशत, हिसुआ में 48.53 प्रतिशत, नवादा में 56.00 प्रतिशत, गोबिंदपुर में 56.60 प्रतिशत एवं वारसलिगंज में 51.30 प्रतिशत, जमुई जिला के सिकंदरा में 52.95 प्रतिशत, जमुई में 57.59 प्रतिशत, झाझा में 58.92 प्रतिशत एवं चकाई में 60.03 प्रतिशत मतदान होने की सूचना है।

वोटिंग के दिन सुबह-सुबह महागठबंधन को वोट देने की अपील कर फंसे राहुल गांधी, BJP ने EC से की शिकायत

शाहपुर विधानसभा सीट पर दो समर्थकों के गुटों के बीच झड़प, आधा दर्जन लोग जख्मी
भोजपुर जिले की शाहपुर विधानसभा क्षेत्र सझौली गांव में राजद प्रत्याशी और निर्दलीय प्रत्याशी के समर्थकों के बीच झड़प होने की खबर है। इस झड़प में आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए हैं। घायलों में महिला भी शामिल है। सभी घायलों को निकट के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। निर्दलीय प्रत्याशी बटेश्वर यादव के समर्थक को ज्यादा चोटें आई हैं।

पहले चरण में JDU के 35, बीजेपी के 29 सीट पर प्रत्याशी
पहले चरण में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जद(यू) ने इन 71 सीटों में से 35 पर अपने उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारे थे। उसके बाद सहयोगी भाजपा ने 29 सीट पर, जबकि विपक्षी राजद ने 42 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे और 20 विधानसभा क्षेत्रों में उसके गठबंधन सहयोगी कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार उतारे थे। लोक जनशक्ति पार्टी ने इन 71 सीटों में से 41 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे।

पहले चरण में इन बड़े चेहरों की किस्मत EVM में हुई कैद
पहले चरण के मतदान में नीतीश सरकार के मंत्री भी मैदान में हैं। शैलेश कुमार (ग्रामीण कार्य मंत्री) जमालपुर से जेडीयू के उम्मीदवार हैं, इनकी टक्कर कांग्रेस के अरुण कुमार से है। राजपुर सुरक्षित सीट से जेडीयू उम्मीदवार संतोष निराला (परिवहन मंत्री) को कांग्रेस उम्मीदवार विश्वनाथ राम टक्कर दें रहे हैं। वहीं दिनारा सीट से जेडीयू उम्मीदवार जय कुमार सिंह (साइंस एंड टेक्नोलॉजी एवं उद्योग मंत्री) की लड़ाई आरजेडी के विजय मंडल से है। वहीं जय कुमार सिंह को बीजेपी के बागी और एलजेपी प्रत्याशी राजेन्द्र सिंह का भी सामना करना पड़ा है। जहानाबाद सीट से कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ( शिक्षा मंत्री) मैदान में है, यहां आरजेडी के सुदामा यादव उन्हें चुनौती दी है। नीतीश कैबिनेट में भूमि सुधार एवं राजस्व मंत्री राम नारायण मंडल बांका से बीजेपी के उम्मीदवार है, इनके खिलाफ आरजेडी के जावेद इकबाल अंसारी मैदान में हैं। जबकि प्रेम कुमार (कृषि मंत्री) गया टाउन से बीजेपी के उम्मीदवार है और इस बार इन्हें कांग्रेस के अखौरी ओंकार से चुनौती मिली है। प्रेम कुमार लगातार 8 बार विधायक रह चुके हैं और वे चुनाव 2020 में बीजेपी घोषणापत्र के अध्यक्ष भी नियुक्त किए गए हैं। श्रेयसी सिंह जमुई से बीजेपी की उम्मीदवार है। अंतराष्ट्रीय निशानेबाज श्रेयसी सिंह दिवंगत दिग्विजय सिंह की बेटी हैं और वो आरजेडी के कद्दावर नेता विजय प्रकाश को चुनौती दे रहीं है। जीतन राम मांझी (पूर्व मुख्यमंत्री) हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा प्रमुख इमामगंज से प्रत्याशी हैं। उनकी टक्कर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी आरजेडी प्रत्याशी से है। इसके अलावा मखदुमपुर से देवेंद्र कुमार मांझी और बारापट्टी से ज्योति देवी भी जीतनराम मांझी के पारिवारिक सदस्य ही हैं।

कटोरिया सीट पर सबसे कम 5 प्रत्याशी
प्रथम चरण के चुनाव में 71 विधान सभा सीटों में क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र चैनपुर था, मतदाता संख्या के मामले में सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र हिलसा था तथा मतदातावार सबसे छोटा क्षेत्र बरबीघा था। इसी तरह प्रथम चरण में गया टाउन विधान सभा क्षेत्र से इस बार सबसे ज्यादा प्रत्याशी (27) और कटोरिया सीट से सबसे कम प्रत्याशी (5) चुनाव मैदान में थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बिहार में पंचायत चुनाव की बजी बिगुल, 10 चरण में चुनाव

निर्वाचन आयोग की घोषणा के साथ राज्य में पंचायत चुनाव 2021 की अधिसूचना लागू हो गयी है। 10 चरणों में पंचायत चुनाव...

मुलेठी / यष्टीमधु अनेक रोगों की श्रेष्ठ औषधि

दौरे पड़ना (फिट आना)- सवेरे एवं सायंकाल 1 छोटी  चम्मच मुलेठी चूर्ण आधा गिलास कुम्हडे के रस के साथ...

Recent Comments